welcome to suryapal singh patel degree college

Manager Message


श्री बृजेश्वर सिंह
(प्रबन्धक)

संदेश

प्रिय छात्र/छात्राएं,
    शिक्षा का वास्तविक उद्देश्य यह होना चाहिए कि हम देश के प्राकृतिक साधनों का समुचित उपयोग करना जानें । वास्तविक शिक्षा वह है, जिसके प्रयोग से देश की पैदावार में वृद्धि हो, खानों से अधिक खनिज पदार्थ मिलें, व्यापार अधिक उन्नतशील हो, शरीर क्रियाशील हो, मस्तिष्क की मौलिकता में अभिवृद्धि हो, हृदय परिष्कृत हो एवं राष्ट्र अधिक संगठित और एकता के भावों से सम्पन्न बने । वर्तमान समय में हम कितने राष्ट्रों के सम्बन्ध में जानते है, जिनके पास विशाल ज्ञान का भण्डार है परन्तु इससे वे बाघ की तरह नृशंस है, बर्बरों के सदृश्य है क्योकि उनका ज्ञान संस्कार में परिणित नहीं हुआ है । क्या शिक्षा देश के कोने-कोने तक पहुँच पायी है, क्या यह सही शिक्षा है जिसकी परिकल्पना आजाद भारत के कर्णधार महापुरूषों ने की थी ? क्या यह वही शिक्षा है जिसकी महिमा का ज्ञान हमारे रास्तों में है ?

अतः मेरे प्रिय छात्र एवं छात्राओं हमें ऐसी शिक्षा ग्रहण करनी होगी जिसका हमारे भविष्य पर गहरा प्रभाव पड़े, क्योकि हमारा भविष्य तो वैसा ही होगा जैसा कि हम उसे बनाने की कोशिश करेगें । अपने भविष्य को बनाने के लिए हमें हर समय चैकन्ना रहना चाहिए और अपने भविष्य के महत्व को समझते हुए हमें भाग्य के भरोसे नहीं बैठना चाहिए । जिस दिन हम पूरी लगन एवं तत्परता से अपने कार्य को अपने मंजिल तक पहुँचा देंगे, उस दिन हमारा डूबा हुआ भविष्य उज्जवल भविष्य में बदल जायेगा और हम समाज के होनहार अग्रणी व्यक्तियों में हमारा नाम गिना जाने लगेगा ।

अन्ततः आप वर्तमान में आप ऐसा कार्य करें जिससे कि आपका लक्ष्य ही आपकी सफलता का असली सूत्रधार बनें और आपको अपनी मंजिल तक पहुँचा दें । मै ईश्वर से आपके लिए महान अनुकम्प करता हूँ कि आप अपनी सफलता के उच्च से उच्च शिखरों तक पहुँचें ।